संस्थापक जेएन टाटा को आज नमन कर रहा जमशेदपुर, जयंती पर श्रद्धासुमन अर्पित

कोरोना के साये में सादगी से मन रहा संस्थापक दिवस, रतन टाटा व एन चंद्रशेखरन ने भी की शिरकत

जुबिली पार्क बंद रहने से चौक-चौराहों की लाइटिंग को निहार रहे लोग. यादगार पल को कैद करे मोबाइल में

जमशेदपुरः लौहनगरी जमशेदपुर आज तीन मार्च (थर्ड मार्च)को लेकर जबरदस्त उत्साह व उमंग से लबरेज है. टाटा समूह के संस्थापक जेएन टाटा की 182 वीं जयंती जो है. टाटा स्टील समेत समूह की तमाम कंपनियों व अन्य स्थानों पर कार्यक्रमों का आयोजन हो रहा जिसमें संस्थापक को श्रद्धासुमन अर्पित किए जा रहे हैं.


रतन टाटा व चंद्रशेखरन ने भी दी श्रद्धांजलि

संस्थापक दिवस पर जेएन टाटा को श्रद्धांजलि अर्पित करने समूह के शिखर पुरूष रतन टाटा व टाटा समूह के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन भी शहर पहुंचे हैं. दोनों दिग्गज दो मार्च को मुंबई से विशेष विमान से यहां मंगलवार को दोपहर में आए. बुधवार को टाटा मोटर्स, टाटा स्टील व बिष्टुपुर पोस्टल पार्क में आयोजित संस्थापक दिवस कार्यक्रमों में शामिल हुए.


कोरोना के कारण सादगी
2021 का संस्थापक दिवस कार्यक्रम वैश्विक महामारी कोरोना के साए मनाया जा रहा. इस कारण सरकार के कोरोना गाइडलाइनंस का अनुपालन किया जा रहा. इस बार जुबिली पार्क में प्रतीकात्मक सजावट की गई है. पार्क आम लोगों के लिए कोरोना के कारण ही बंद है. हालांकि जुबिली पार्क समेत अन्य पार्कों के बंद रहने के कारण टाटा स्टील ने शहर के 32 चौराहों या भवनों को खास तौर से सजाया है ताकि लोग वहां जाकर लाइटिंग का आनंद उठा सके. लोग ऐसा कर भी रहे. साकची व बिष्टुपुर के इलाके में चौराहों पर सेल्फी लेने की होड़ इसकी तस्दीक कर भी रही. उन स्थानों पर लोग अपने वाहनों को खड़ा कर जगमग करती बिजली की सजावट को निहारते हैं.


कोरोना के कारण नहीं निकलीं झांकियां
कोरोना प्रोटोकाल के कारण इस बार संस्थापक दिवस समारोह में झांकियां नहीं निकाली गईं. दिल्ली के गणतंत्र दिवस समारोह की तर्ज पर जमशेदपुर में भी संस्थापक दिवस पर टाटा समूह की विभिन्न कंपनियों, उनके विभागों व दूसरे संस्थानों की ओर से आकर्षक झांकी निकाली जाती है और इन्हें देखने के लिए बिष्टुपुर में लोगों को सैलाब उमड़ता है. हालांकि इस साल कोरोना के कारण यह कार्यक्रम नहीं
आय़ोजित किया गया.

थर्ड मार्च समारोह का खास महत्व 

जमशेदपुर में थर्ड मार्च यानी संस्थापक दिवस का खास महत्व होता है. इस दिन शहर के कंपनी इलाकों में खास सजावट की जाती है. प्रमुख पर्यटन स्थल जुबिली पार्क को तो दुल्हन की तरह सजाया जाता है. करीब एक सप्ताह तक चलनेवाले इस सजावट, बिजली का लाइटिंग, को देखने के लिए लोगों को हुजूम हर रोज पार्क में उमड़ता है. झारखंड के अलावा दूसरे राज्यों से भी लोग जमशेदपुर में थर्ड मार्च समारोह देखने आते हैं.

Leave a Reply