3 मार्च के लिए कोरोना सावधानी, कोई बड़ा कार्यक्रम नहीं, सीमित साज-सज्जा

जमशेदपुर: कोरोना महामारी का असर इस साल 3 मार्च के समारोह पर भी पड़ेगा. इस साल न तो कोई बड़ा कार्यक्रम होगा, न ही देश-विदेश के मेहमान आएँगे. जुबिली पार्क में कोई कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाएगा. साज-सज्जा केवल शहर के प्रमुख चौराहों और मुख्य भवनों पर सीमित होगी.

टाटा स्टील के वाइस प्रेसिडेंट श्री चाणक्य चौधरी ने आज एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना की वजह से इस साल टाटा समूह अपने संस्थापक जमशेदजी नसरवानजी टाटा की जयंती पर कोई बड़ा कार्यक्रम आयोजित नहीं करेगा.

टाटा समूह के संस्थापक जमशेदजी नसरवानजी टाटा की जयंती 3 मार्च को है. वैसे तो हर साल 3 मार्च को लौहनगरी जमशेदपुर को दुल्हन की तरह सजाया जाता था, जहां विद्युत सज्जा और टाटा समूह के सफरनामे को देखने न केवल जमशेदपुर, बल्कि झारखंड के अन्य इलाकों के अलावा बिहार, बंगाल और उड़ीसा से भी लोग पहुंचते थे.

3rd march
जमशेदपुर शहर में चौराहों पर साज-सज्जा

कोरोना महामारी को देखते हुए इस साल टाटा समूह ने कोई भी बड़ा आयोजन करने से मना कर दिया है. टाटा समूह के वीपी चाणक्य चौधरी ने जानकारी देते हुए बताया, कि इस साल विदेशी मेहमान और कारपोरेट सहयोगी संस्थापक दिवस समारोह में हिस्सा लेने नहीं आएंगे. ना ही ऐतिहासिक जुबिली पार्क में कोई कार्यक्रम होगा.

पूरे शहर में विद्युत सज्जा की जाएगी और लाइव टेलीकास्ट किया जाएगा. टाटा समूह के चेयरमैन डॉक्टर एन. चंद्रशेखरन 2 मार्च को शहर आएंगे और 3 मार्च को संस्थापक दिवस समारोह में हिस्सा लेकर वापस लौट जाएंगे. वही रतन टाटा के आने पर अभी संशय बने होने की बात उन्होंने कही. वैसे उन्होंने उम्मीद जताई कि वे भी आयें तो बेहतर होगा.

टाटा स्टील के वीपी चाणक्य चौधरी मीडिया को 3 मार्च के बारे में लिये गये फैसलों की जानकारी देते हुए.

Leave a Reply