बागबेड़ा ग्रामीण जलापूर्ति योजना चालू कराने के लिए अनशन

जमशेदपुर: बागबेड़ा ग्रामीण जलापूर्ति योजना चालू कराने की मांग को लेकर शनिवार को पंचायत प्रतिनिधि गण, जिला पार्षद, मुखिया, पंचायत समिति,वार्ड सदस्य और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने एक दिवसीय अनशन किया और विरोध जताया।

जनप्रतिनिधियों का कहना है पिछले रघुवर सरकार ने सत्ता में आते ही नीर निर्मल परियोजना के तहत बाद बड़ा जलापूर्ति योजना को एक बड़ी सौगात देने का ऐलान किया था, लेकिन आज भी एक बड़ी आबादी पानी को लेकर त्राहिमाम कर रही है।

क्षेत्र के ग्रामीणों की समस्याओं को लेकर शनिवार को सिद्धू कानू मैदान में बागबेड़ा जलापूर्ति योजना को जल्द पूरा करने और राजनीति से दूर रखने की मांग को लेकर पंचायत प्रतिनिधियों ने 51 घंटे का अनशन शुरू कर दिया है।

इसमें स्थानीय लोग और सामाजिक कार्यकर्ता भी शामिल हुए। इस संबंध में जिला पार्षद सदस्य किशोर यादव ने बताया जिस योजना को 2018 में पूरा होना था 2021 तक वह योजना अधूरी है। बागबेड़ा इलाके में पानी की घोर किल्लत की मार जनता जल रही है।भीषण गर्मी का मौसम शुरू होने वाला है। ऐसे में परियोजना के पूरा नहीं होने से क्षेत्र में पानी को लेकर हाहाकार मचेगा।

उन्होंने पेयजल एवं स्वच्छता विभाग से इस परियोजना को जल्द से जल्द पूरा किए जाने की मांग की। साथ ही आने वाले दिनों में और उग्र आंदोलन की भी चेतावनी दी है।

Leave a Reply