जमशेदपुर में कोरोना संक्रमण रोकने को प्रशासन अलर्ट, मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग पर कड़ी नजर, चेकिंग शुरू

उपाय़ुक्त के निर्देशों का कड़ाई से हो रहा अनुपालन, कई लोगों से वसूला गया जुर्माना

जमशेदपुरः महाराष्ट्र. केरल, पंजाब समेत कई राज्यों में कोरोना के मामलों की बढ़ती संख्या व जमशेदपुर में वहां से लोगों के आने की स्थिति को देखते हुए जिला प्रशासन अलर्ट हो गया है. प्रशासन ने कोरोना दिशा निर्देशों के अनुपालन के लिए सख्ती बरतनी भी शुरू कर दी है.


पूर्वी सिहंभूम के उपायुक्त सूरज कुमार ने कोरोना रोकने को सख्त निर्देश दिए हैं. उन्होंने लोगों से मास्क का इस्तेमाल व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील करते हुए अपने अधीनस्थों से रहा है कि इसकी पड़ताल की जाए कि सार्वजनिक स्थान, सरकारी कार्ययालय, बाजार, माल, बस स्टैंड,. रेलवे स्टेशन, अस्पताल आदि स्थानों पर नजर रखने को कहा है. उन्होंने कहा है कि कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करनेवालों पर डीएम एक्ट के तहत कार्रवाई की जाए.


क्या कहता है जिला प्रशासन का निर्देश

 होटल, रेस्टोरेंट, मॉल, बैंक, सब्जी मंडी, दुकान, हाट बाजार सहित अन्य सभी स्थानों में शारीरिक दूरी का पालन करते हुए मास्क पहनना अनिवार्य है.
 टेस्ट सेंटर में कोविड 19 टेस्ट की संख्या को दोगुनी होगी.
 मास्क नहीं पहनने वाले व्यक्तियों की प्राथमिकता के साथ कोविड जांच कराई जाए.
 स्थानीय व्यक्तियों व आंगनबाड़ी कर्मियों के सहयोग से कोविड के लक्षण वाले व्यक्तियों के बारे में जानकारी प्राप्त कर उनकी जांच कराई जाए.
 आवश्यकता अनुसार प्रभावित क्षेत्रों में कंटेनमेंट जोन बनाना और संक्रमित व्यक्तियों को अस्पताल या होम आइसोलेशन में रखवाने की व्यवस्था करना।
 मास्क व शारीरिक दूरी का उल्लघंन करने की स्थिति में डीएम एक्ट की धारा 51 व 60 के तहत आईपीसी की धारा 188 के तहत कार्राई करना शामिल है।

कोरोना पर नियंत्रण के लिए कड़े निर्देश

प्रशासन ने शुरू की कार्रवाई


जिले के एडीएम तथा एसडीओ ने जिला मुख्यालय परिसर एवं जिला परिवहन विभाग में अभियान चलाकर मास्क नहीं पहननेवालों व सामाजिक दूरी का पालन नही करने वालों पर करवाई की. ऐसे लोगों से जुर्माना वसूला गया. एडीएम ने कहा कि जिला प्रशासन कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों से सख्ती से निपटेगा.

Leave a Reply